सिघ्रपतन रोकने के 7 घरेलु उपाय

इस योगासन को प्रतिदिन कुछ मिनट के लिए अभ्यास करने से सिघ्रपतन की समस्या में सुधार हो सकता है।

शतावरी का सेवन करने से पुरुषों में वीर्य की उत्पत्ति में मदद हो सकती है, जिससे सिघ्रपतन कम हो सकता है।

यह जड़ी-बूटी सिघ्रपतन को नियंत्रित करने में मदद कर सकती है और स्थायिता बढ़ा सकती है।

केगल एक्सरसाइज़ से पेल्विक फ्लोर मस्तिष्क को मजबूत करने के लिए अभ्यास करें, जो सिघ्रपतन को नियंत्रित करने में मदद कर सकता है।

तुलसी के पत्ते का रस पीना सिघ्रपतन को कम करने में सहायक हो सकता है।

धनिया और सोंठ के रस को मिलाकर प्रतिदिन सेवन करने से सिघ्रपतन की समस्या में सुधार हो सकता है।

योग और प्राणायाम के अभ्यास से मानसिक तनाव कम होता है, जिससे सिघ्रपतन की समस्या में सुधार हो सकता है।

किडनी को मजबूत करने के लिए खाए ये चीजे